छोड़कर चली गयी वो

छोड़कर चली गयी वो  
पगली ये कहकर...
जब तुम पाँच सों के खुले नही ला सके ....
तो चाँद तारे क्या लाओगे !!
.
😀😀😀😀😀