भूतनी आगी सपने मैं..

कल रात नै भूतनी आगी सपने मैं..
न्यू बोली:- बैरी कदे मिठ्ठा भी खा लिया कर..
मैं बोला:मखा के बात होगी..?
न्यू बोली: तेरै चपटण का जी कर रा है 😜