फर्क सिर्फ सोच का होता

एक छोटा सा बच्चा अपने दोनों हाथों में एक एक एप्पल लेकर खड़ा था..उसके पापा ने मुस्कराते हुए कहा कि"बेटा एक एप्पल मुझे दे दो"😇..इतना सुनते ही उस बच्चे ने एक एप्पल को दांतो से कुतर लिया.😑...उसके पापा कुछ बोल पाते उसके पहले हीउसने अपने दूसरे एप्पल को भी दांतों से कुतर लिया..अपने छोटे से बेटे की इस हरकत को देखकरबाप ठगा सा रह गया औरउसके चेहरे पर मुस्कान गायब हो गई थी.....तभी उसके बेटे ने अपने नन्हे हाथ आगे की ओर बढाते हुए पापा को कहा....."पापा ये लो ये वाला ज्यादा मीठा है....शायद हम कभी कभी पूरी बात जाने बिना निष्कर्ष पर पहुंच जाते हैं.....किसी ने क्या खूब लिखा है:नजर का आपरेशन तो सम्भव है,पर नजरिये का नही..!!!.फर्क सिर्फ सोच का होता है.......वरना ,वही सीढ़ियां ऊपर भी जाती है ,और निचे भी आती ह