इसतै घणी भीड़ी भीड़ी पाड़ राखी हैं

एक बार एक छोरी जावै थी
जांदी जांदी न पाद मार दिया
ओडे़ एक जाट खड़ा था
जाट पड़दा ए बोल्या, "के बजा बजा
दिखावै सै? इसतै  घणी भीड़ी भीड़ी
पाड़ राखी हैं😃😜😂😱😠😠😡