लफ्ज़ का वार

दिल से नाज़ुक नही,
. . . दुनिया में कोई चीज साहब,
लफ्ज़ का वार भी
. . . . खंजर की तरह लगता है..!!