प्रेम तब तक सिर्फ एक शब्द भर है

प्रेम तब तक सिर्फ एक शब्द भर है ....
जब तक आप इसका अहसास नहीं कर लेते.......